For the best experience, open
https://m.merisaheli.com
on your mobile browser.
Advertisement

सेक्स प्रॉब्लम्स- क्या ब्रेस्ट छोटे होने से सेक्सुअल रिलेशन में प्रॉब्लम होगी? (Sex Problems- Does Breast Size Matter In Sexual Relation?)

04:55 PM May 02, 2020 IST | Usha Gupta
सेक्स प्रॉब्लम्स  क्या ब्रेस्ट छोटे होने से सेक्सुअल रिलेशन में प्रॉब्लम होगी   sex problems  does breast size matter in sexual relation
Advertisement

मैं 22 साल की हूं अभी मेरी शादी नहीं हुई है मैं अपनी एक समस्या से परेशान हूं. मेरे ब्रेस्ट छोटे हैं और मुझे हमेशा इस बात की चिंता रहती है कि शादी के बाद इसके कारण सेक्सुअल रिलेशन में प्रॉब्लम तो नहीं होगी. यह भी विचार मन में उठता है कि बच्चे होने पर कहीं इसके कारण दूध पिलाने या और किसी और तरह की समस्या तो नहीं होगी. क्या ब्रेस्ट (स्तन) को बढ़ाने का कोई उपाय है. कृपया, उचित मार्गदर्शन करें.

Advertisement

– सोनी सिंह, जोधपुर. 

ब्रेस्ट छोटे या बड़े होने से सेक्सुअल रिलेशन पर कोई फ़र्क नहीं पड़ता है, क्योंकि सेक्स का इससे सीधे तौर पर कोई आपसी संबंध नहीं है. ना ही इसकी वजह से सेक्स प्लेजर में कोई प्रॉब्लम होती है. इसलिए आप इन बातों को लेकर परेशान ना हो. शादी के बाद इसे लेकर कोई समस्या नहीं होगी. हां, रही बात बच्चे के स्तनपान यानी ब्रेस्ट फीडिंग कराने की, तो ऐसा भी बिल्कुल नहीं है. मां के खानपान से ही दूध बनता है ना कि स्तन के आकार से. छोटे स्तन होने के बावजूद आप बच्चे को अच्छे से ब्रेस्ट फीडिंग करा सकती हैं, इसलिए इस बात को लेकर भी परेशान ना हो. रही बात ब्रेस्ट को शेप देने, इसे बढ़ाने की, तो इसके लिए अपने खानपान पर ध्यान दें. पौष्टिक भोजन लें. स्विमिंग व एक्सरसाइज करें.

Advertisement

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- पति छुपकर मास्टरबेशन करते हैं… (Sex Problems- My Husband Do Masturbating Secretly)

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- पति के साथ सेक्स करते समय मैं उनके एक दोस्त के बारे में सोचती रहती हूं… (Sex Problems- While Having Sex With My Husband, I Fantasize About His Friend…)

मैं 25 साल का हूं. अभी मेरी शादी नहीं हुई है. मुझे कोई बुरी आदत भी नहीं है. फिर भी हर महीने मुझे कम-से-कम चार-पांच बार नाइटफॉल (स्वप्नदोष) होता है. इसके अलावा उस समय सीमन भी काफ़ी निकलता है. इसे लेकर मैं बहुत परेशान रहता हूं. जिस दिन ऐसा होता है, उस दिन मेरा किसी भी काम में मन भी नहीं लगता. मैं क्या करूं? कृपया, मेरी समस्या का समाधान करें.
– विनोद शर्मा, रायपुर.

युवावस्था में नाइटफॉल होना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है. महीने में 4-6 बार इसका होना कोई बीमारी नहीं है, इसलिए आप इसे लेकर अधिक परेशान ना हों. ना ही इसे लेकर अधिक चिंतित हों. अक्सर पेट की ख़राबी यानी कब्ज और सेक्स से जुड़ी बातों को अधिक सोचने-विचारने के कारण भी स्वप्नदोष की समस्या अधिक होती है. अमूमन कामुक विचारों का चिंतन इस बीमारी का मुख्य कारण होता है. अतः सेक्स संबंधी बातों के बारे में ना सोचें. साथ ही पेट को भी साफ़ रखें, ताकि कब्ज की समस्या ना होने पाए. ऐसा करने से काफ़ी हद तक नाइटफॉल की समस्या दूर हो जाएगी. मन में कामुक विचारों को न लाने के अलावा अश्लील किताबें भी न पढ़ें. ये सरल उपाय करके इस समस्या से बचा जा सकता है. इन सबके अलावा तेज मसालेवाला भोजन, नॉनवेज, अल्कोहल या तेज गर्म पदार्थ आदि के खाने से बचें. नाइटफॉल को लेकर ज़्यादा चिंतित ना हो, क्योंकि इसके सोचनेभर से और अधिक विचार करने से भी नाइटफॉल होने लगता है. इसलिए इससे बचें. मन अधिक भटके, तो मेडिटेशन, प्राणायाम और योग करें.

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: Sex Problems Q&A

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
(dr.rajivanand@gmail.com)
Advertisement
Tags :
×

.